How to Check Quality Backlink | Good vs Bad Backlinks

क्वालिटी बैकलिंक्स कैसे चेक करे

आपने पिछले पोस्ट में पढ़ा होगा की बैकलिंक किस तरह चेक करे और किस तरह बनाये, आप अपने ब्लॉग या अपनी वेबसाइट के लिए बैकलिंक तो बना सकते है लेकिन आपको बैकलिंक बनाते वक्त लिंक्स के नियमो को भी ध्यान में रखना होगा

आप दिन भर अपनी वेबसाइट के लिए बैकलिंक बनाये लेकिन वो बैकलिंक्स आपके किसी काम के नहीं, तो उसको बनाने का कोई फायदा नहीं

लेकिन अगर आप बैकलिंक के नियमो को आप ध्यान में रखकर चलेंगे तो सिर्फ कुछ ही घंटे आप अपनी वेबसाइट पर देकर अच्छी क्वालिटी के बैकलिंक्स बना सकते है जो आपके वेबसाइट के लिए अच्छे होंगे

लगभग सभी एसईओ जानते ही होंगे की बैकलिंक्स क्या है और ये किस तरह बनाये जाते है लेकिन बैकलिंक बनाने का मतलब ये नहीं के कही भी लिंक पोस्ट कर दिया जाए

हमें हर नियम का ध्यान रखना होता है, अगर नियम के खिलाफ जायेंगे तो आपकी वेबसाइट सर्च इंजन के रिसल्ट में पीछे जा सकती है

बैकलिंक अच्छी वेबसाइट से होना चाहिए जिसका DA अच्छा हो तो और बेहतर है

How to Check Quality Backlinks

DA क्या है इसको जानने के लिए यहाँ क्लिक करे और पढे

कोई भी दूसरी वेबसाइट जहा आप अपने लिंक लगाते है अगर उस साईट पर बहुत ज्यादा लोग आते है तो यह आपकी वेबसाइट के लिए अच्छा है, जितने ज्यादा लोग आपकी वेबसाइट पर क्लिक करेंगे आपके ब्लॉग या वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ेगी

अब चलते है और देखते है बैकलिंक्स के कुछ नियम

Low Quality Backlink – ख़राब क्वालिटी बैकलिंक

सबसे पहले और जरुरी नियम को हमने ध्यान रखना है जो ख़राब क्वालिटी का है, ऐसी साइट्स जो सर्च इंजन के हिसाब से स्पैम है और Adult या गैर कानूनी ( Illegal ) वास्तु बेचती है उस वेबसाइट से अगर आपका लिंक जुड़ा हुआ है तो आपको वो लिंक हटा देना चाहिए

 

how to check nofollow backlinks in SEONofollow
अगर आप किसी दूसरी वेबसाइट पर अपना लिंक लगा रहे है तो आपको यह चेक करना है की दूसरी साइट जिसपर आपने लिंक लगाया है वो नोफोल्लोव है या नहीं

नोफोल्लोव टैग एक सर्विस है जो वेबसाइट के मालिक द्वारा लगाईं जाती है, किसी भी लिंक में नोफोल्लोव टैग लगाने से लिंक की पावर नहीं रहती और वो आगे साइट पर दिखता है लेकिन अगर उसपर क्लिक करके कोई आपकी वेबसाइट पर आता है तो आपको सिर्फ ट्रैफिक मिलेगा लेकिन रैंक नहीं बढ़ेगी

अगर आप अपनी वेबसाइट का एसईओ कर रहे है तो आपको ध्यान रखना है के नोफोल्लोव बैकलिंक आपकी वेबसाइट के लिए किसी काम के नहीं

 

Quality Backlinks
अब जब आपने नोफोल्लोव को समझ लिया और साथ ही आप अपनी वेबसाइट से जुडी हुई केटेगरी के पेज से बैकलिंक लेते है तो भी आपको ये दज्यन रखना है के जो बैकलिंक आप बना रहे है वो भले ही नोफोल्लोव न हो, या फिर आपके बिज़नस से जुड़े हुए केटेगरी से हो,

लेकिन उन बैकलिंक्स का क्वालिटी वाला होना जरुरी है, आपको ध्यान रखना है की जिन वेबसाइट से आप बैकलिंक बना रहे है कही वो वेबसाइट सर्च इंजन की नज़र में बेकार तो नहीं

आज कल इसका सबसे अच्छा उदाहरण गेस्ट पोस्टिंग है जो अब सर्च इंजन की नजर में बेकार हो चुका है और उसके बनाये हुये सभी बैकलिंक्स वेबसाइट के रिजल्ट को ख़राब भी कर कर सकते है

 

Inbound and outbound Backlinks – आने वाले और वेबसाइट से बाहर जाने वाले बैकलिंक्स

ये एक खास पहलु है बैकलिंक्स का, जिस वेबसाइट से आप अपनी वेबसाइट के लिए बैकलिंक्स बना रहे है एक बार उस वेबसाइट के इन एंड आउट बैकलिंक्स भी चेक कर लीजिये

क्योकि ऐसी वेबसाइट जिसपर आने वाले बैकलिंक्स न के बराबर है लेकिन वेबसाइट से बाहर जाने वाले लिंक बहुत ज्यादा है ! तो ऐसी वेबसाइट आपके लिए बेकार है,

कोशिश करे ऐसी वेबसाइट से काम बैकलिंक बनाये जिसके आउटबाउंड लिंक ज्यादा हो, और इनबाउंड कम

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में जाना बैकलिंक के कुछ नियमो को, अगर ठीक ना लगे या कुछ कमी लगे तो एक बार अपने विचार शेयर कीजिये

Leave a Reply