How to Choose Best Colour for Blog Design

how to choose best colour for website

अपने ब्लॉग के लिए सबसे अच्छा कलर कैसे चुने?

अगर आपन पीना ब्लॉग खुद डिजाईन कर रहे है तो कलर कॉम्बिनेशन एक सबसे जरुरी और मुश्किल काम है आपके लिए, अगर आप अपने ब्लॉग के लिए सबसे अच्छे कलर चुनते है तो आपको और भी आसानी होती है, अपने ब्लॉग पर विजिटर को रोक कर रखने के लिए अच्छे कलर को चुनना एक जरुरी काम है, हर ररंग की एक अलग विशेषता होती है और हर रंग अपने में बहुत कुछ छुआ कर रखता है,

अगर आपको लगता है की कलर ज्यादा कुछ मायने नहीं रखता तो आप ही सोचिये की लड़कियों को ज्यादा पिंक कलर ही क्यों पसंद होता है, और कोई भी फैशन या लड़की का बनाया हुआ ब्लॉग हमेशा कलरफुल क्यों होता है

 

ऐसा नहीं है की पिंक कलर सिर्फ लड़कियों को ही पसंद होता है सभी को कोई न कोई कलर पसंद होता है, ठीक इसी तरह हमारे ब्लॉग के कलर से भी विजिटर आकर्षित होता है और वेबसाइट पर आने के बाद उसका डिजाईन और कलर भी देखता है

 

वेबसाइट का कलर क्यों जरुरी है

वेबसाइट या ब्लॉग का कलर किसलिए जरुरी है इसको समझने के लिए हमने अभी आपको लड़की और लड़के वाली बात कही थी, आपने पड़ा होगा की लड़की को ज्यादा पिंक कलर पसंद होता है, लेकिन यहाँ इन्टरनेट पर इसके कुछ और भी कारन है जिन्हें हम एक एक करके देखते और समझते है अगर आपका ब्लॉग ठीक तरह के कलर से भरा हुआ है तो आपके यह बाते आपको ध्यान में रखनी है

 

Coversation

जो भी कलर आप पसंद करते है वह कलर आपके ब्लॉग पर आने वाले लोगो को आकर्षित करते है, आप अगर नोट करेंगे तो कोई भी वेबसाइट खोलिये, उसमे ज्यादातर आपको हरा या नीला रंग दिखाई देगा, क्योको ये कलर आदमी या औरत दोनों को साधारण तौर पर पसंद होता है

 

Attract Your Audience

ब्लॉग पर जब भी कोई व्यक्ति आता है तो वह ब्लॉग के रंग और डिजाईन को देख कर ही समझ सकता है की ब्लॉग की थीम क्या है, और यह ब्लॉग किस विषय पर बना हुआ है,

 

Readibility

साथ ही अगर आप कलर का अच्छा कॉम्बिनेशन लेंगे तो ब्लॉग को पड़ने वाले को आसानी होंगी, कुछ वेबसाइट पर आपने देखा ही होगा की बैकग्राउंड के कलर कुछ ज्यादा ही चमकते है और लिखे हुए शब्दो हम ठीक से नहीं पढ़ पाते

 

Accessibility

आपने अक्सर देखा होगा की ब्लॉग के लिखे हुए पोस्ट में कोई भी लिंक अगर कही लिखा होता है तो वह अपने आप नीले रंग का बन जाता है, जिससे ब्लॉग को पड़ने वाला समझ जाता है की यह एक एंकर टेक्स्ट है जो जिसपर क्लिक करने से कोई दूसरा पेज खुल जायेगा

 

ब्लॉग में सबसे जरुरी कलर कहा करने है

1. ब्लॉग का डिजाईन, थीम, बैकग्राउंड कलर

2. ब्लॉग में लिखे हुए सभी शब्दो का रंग

3. ब्लॉग के मुख्य हैडिंग

4. कॉल टू एक्शन बटन

5. एंकर टेक्स्ट या बोल्ड किये हुए शब्द

how to choose best colour for blog design

अपने चुने हुए रंग के साथ ऑडियंस को टारगेट करे

अगर आपने ब्लॉग किसी खास केटेगरी से जुड़ा हुआ बनाया है टू रंग भी उसी हिसाब से ले, जैसे अगर आपने कोई ऐसा ब्लॉग बनाया है जिसका मुख्य विषय लड़कियों से जुड़ा हुआ है तो कोशिश करे की ब्लॉग को कलरफुल या गुलाबी कलर से बनाये,

ठीक इसी के विपरीत अगर आपका ब्लॉग इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़ा हुआ तो ब्लू, ब्लैक या डार्क ग्रीन कलर का इस्तेमाल करे, क्योकि गर्ल्स को आई टी से जुड़े ब्लॉग ज्यादा पसंद नहीं इसलिए आप अपने ब्लॉग में कलर भी लड़को के हिसाब से ही लगाए

 

Understand the Colours Value

ब्लॉग पर पोस्ट बनाते वक्त कुछ कलर का ध्यान रखे, क्योकि हर कलर अपने हिसाब से अपनी पावर रखता है इसके लिए आपका जानना जरुरी है की कौनसा कलर कहा इस्तेमाल होना चाहिए

 

1. नीला – नीला कलर आपस में जोड़ने का और विश्वास का भाव दिखता है, इसीलिए ज्यादातर वेबसाइट पर एंकर टेक्स्ट नीले कलर के होते है,

 

2. पीला – पीला कलर कुछ जरुरी हैडिंग शब्दो के लिए होता है, जिसे करना जरुरी है, लेकिन यह न करे तो भी काम चल सकता है, इसीलिए ऑप्शनल कॉलम में ज्यादा तार पीला कलर का इस्तेमाल होता है

 

3. हरा – हरा रंग ब्लॉग में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला कलर है, हरा रंग क्रिएटिविटी को दर्शाता है

 

4. लाल – लाल रंग बहुत ही जरुरी बातो को दर्शाने के लिए होता है, वार्निंग या खतरा जैसे निशान हमेशा लाल रंग से बने हुए है, साथ ही वेबसाइट में कोई वार्निंग दर्शाने के लिए भी लाल रंग का इस्तेमाल होता है

 

5. गुलाबी – गुलाबी कलर का ब्लॉग अक्सर आपको फैशन या गर्ल्स के बनाये हुए ब्लॉग में दिख जायेगा, गुलाबी रंग लड़कियों के लिए रोमांस का प्रतीक होता है

 

6. सफ़ेद – सफ़ेद रंग शांति का प्रतीक होता है इसीलिए ज्यादातर खबरों की वेबसाइट या जरुरी वेबसाइट सफ़ेद रंग में होती है, और साथ ही यह सबसे जरुरी कलर है जिसमे लगभग हर ब्लॉग अच्छा लगता है,

 

7. काला – और अंत में सबसे जरुरी काला रंग है जिसके बिना कोई भी ब्लॉग अधूरा है, आप बैकग्राउंड में कोई भी रंग का इस्तेमाल कर ले लेकिन काला रंग शैडो को लिखने के लिए सबसे उपयुक्त माना गया है

 

ठीक इसी तरह आपको रंग इस्तेमाल करते वक्त उनका हल्का और गहरे होने का ध्यान भी देना है, जेंडर में कलर को लेकर रिसर्च से पता चलता है की लड़को को कोई भी कलर जिसका रंग हल्का या गहरा हो उन्हें इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता, लेकिन इसके विपरीत लड़कियों को चमकते हुए शार्प कलर ज्यादा पसंद होते है,

उम्मीद है आप इस पोस्ट से समझ गए होंगे की आपको किस तरह के ब्लॉग के लिए कैसा रंग चुनना चाहिए, साथ ही हर रंग को लेकर ब्लॉग में कितना फेरबदल करना है, इस बात को ध्यान रखिये की वेबसाइट पर आने वाला व्यक्ति रंग देखकर ही सबसे पहले आपके ब्लॉग पर रुकता हैं, और रंग से ही आकर्षित होता है,

फिर भी आपको इस पोस्ट में कुछ कमी लगती है या आप कुछ पूछना चाहते है तो कमेंट में हमें पूछ सकते है

Leave a Reply