How to Post Social Bookmarking | What is Social Bookmarking

सोशल बुकमार्किंग क्या है और कैसे करे

 

दोस्तों आज की पोस्ट में हम बात करते है सोशल बुकमार्किंग की और यह भी जाने की कोशिश करेंगे की सोशल बुकमार्किंग क्या होती है और यह क्यों इस्तेमाल होती है

सोशल बुकमार्किंग क्या है

सबसे पहले ये सवाल बनता है किस सोशल बुकमार्किंग क्या होती है आप सभी यूजर जानते है सोशल शब्द इन्टरनेट पर किस चीज़ से जुड़ा है, और इसी तरह बुकमार्किंग शब्द से भी आप परिचित होंगे,

जब भी इन्टरनेट चलाते है और आपको इन्टरनेट के इस्तेमाल करते वक्त अगर कोई साईट अच्छी लगती है तो आप क्या करते है, या तो आप उसे अपने दिमाग में याद कर लेते है या फिर आप उसे कही लिख कर रख लेते है, और ज्यादातर यूजर अपने कंप्यूटर में उसे बुकमार्क बना कर रख लेते है,

तो ठीक इसी तरह सोशल बुकमार्किंग एक ऐसी वेबसाइट होती है जहा पर दुनिया भर से लोग आते है और अपनी पसंद की वेबसाइट को लिख कर रख लेते है,

अब ये सवाल बनता है की बुकमार्किंग तो हम अपने कंप्यूटर में भी रख सकते है उसके लिए सोशल बुकमार्किंग की वेबसाइट की क्या जरुरत, तो दोस्तों सोशल बुकमार्किंग की वेबसाइट में इतना फर्क होता है की जो वेबसाइट आप अपने कंप्यूटर में बुकमार्क बना कर रखते हो वो सिर्फ कंप्यूटर में रही है

लेकिन अगर आप सोशल बुकमार्किंग में कोई वेबसाइट लिख कर रखते हो तो वहा उस साईट को दुनिया भर के सभी यूजर देख सकते है, मतलब आपका लिंक आप सभी को शेयर कर रहे है

सोशल बुकमार्किंग की वेबसाइट इसीलिए मशहूर होती है क्योकि वह लोग आते है और एक दूसरे को अपने लिंक शेयर करते है,

लेकिन हम यहाँ इसे अपने एसईओ या अपने वेबसाइट और ब्लॉग को पॉपुलर करने के लिए इस्तेमाल करते है,

सोशल बुकमार्किंग के नियम

अब यहाँ तक आप इस पोस्ट को पड़कर समझ ही चुकें होंगे की सोशल बुकमार्किंग क्या होती है और किसलिए इस्तेमाल की जाती है, लेकिन सोशल बुकमार्किंग करते वक्त हमें कुछ बातो का ध्यान रखना है

1. क्वालिटी – हाल ही में गूगल सर्च इंजन के नए नियम के हिसाब से काफी सारी वेबसाइट जो की सोशल बुकमार्किंग की वो स्पैम हो चुकी है, तो हमें यह ध्यान रखना है की जिस वेबसाइट पर हम लिंक अपलोड कर रहे है उसकी क्वालिटी कैसी है, अगर आपने किसी ऐसी वेबसाइट पर लिंक डाला जिसपर आपत्तिजनक या अवैध बिज़नस की लिस्टिंग हो रखी है तो आपको उस वेबसाइट पर अपना लिंक नहीं डालना

2. जब भी आप सोशल बुकमार्किंग की वेबसाइट में अपना लिंक रखते है तो आपका ध्यान रखना है की हर बार लिंक का टाइटल एक जैसा न हो, आप उसे बदलते रहे और एक जैसा टाइटल रखने से बचे

3. एक ही IP से बने हुए जितने भी ब्लॉग या वेबसाइट होंगी उनको एक ही वेबसाइट मन जायेगा, उदहारण के लिए अगर आपकी एक वेबसाइट है और उसका आई पी एड्रेस 1.2.3.4 है तो आप उस IP से जितनी भी वेबसाइट बना रहे है वो सब गूगल की नज़र में एक ही वेबसाइट है

तो ध्यान रहे की सोशल वेबसाइट पर लिस्टिंग करते वक्त ध्यान रखे की कही एक ही IP से चल रही वेबसाइट तो नहीं

4. कीवर्ड्स का ध्यान रखे, अपने लिंक की डिस्क्रिप्शन जो आप लिखेंगे उससे मिलते जुलते ही कीवर्ड्स का इस्तेमाल करे, नहीं तो आपकी वेबसाइट सर्च रिज़ल्ट में ठीक से नहीं दिखाई देगी

5. और अंत में सबसे जरुरी और अहम् बात यही है की आपको ध्यान रखना है की जो आप लिस्टिंग कर रहे हो वो Nofollow तो नहीं, क्योकि अगर आपका लिंक नोफोल्लोव होगा तो आपकी सारी मेहनत ख़राब होगी, Nofollow से आपकी वेबसाइट की रैंकिंग नहीं होती, सिर्फ ट्रैफिक आता है, लेकिन उस ट्रैफिक से रैंकिंग नहीं बढ़ती

उम्मीद है दोस्तों आप आप समझ चुकें होंगे की सोशल बुकमार्किंग क्या होती है और ये किसलिए होती है, अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचार व्यक्त करे

2 thoughts on “How to Post Social Bookmarking | What is Social Bookmarking

  1. TARUN SHARMA Reply

    Sir thanks for information
    kya ham paid social Bookmarking bhi use kar sakte hai
    ya fir hame self hi social bookmarking karni chahiye |

    Please Help

    • Neeraj Post authorReply

      har month google ke koi na koi new updates nikalte hi rahte hai, jo aapko padte rahna chahiye, social bookmarking 3 years pahle hi google algorithm ke according spam ho chuki hai, bahut kam aisi social bookmarking ki websites hai jo spam list me nahi hai, agar hamse puche to aap social bookmarking me jyada time na de, isse better hoga ki aap forum or profile creation, comment posting par time de

Leave a Reply