What is Sitemap and How to Create Sitemap

साइटमैप क्या होता है और साइटमैप कैसे बनाये

साइटमैप एक ऐसी फाइल है जिसकी मदद से आप अपनी वेबसाइट के सभी पेजो को एक जगह पर रख कर दिखा सकते है और जब सर्च इंजन या कोई यूजर आपकी वेबसाइट पर आएगा तो उसे आपके ब्लॉग या आपकी वेबसाइट के सभी पेजो के बारे में एक डिटेल मिल जाएगी

छोटे शब्दो में हम कह सकते है की ये एक तरह से आपकी वेबसाइट का नक्शा है जिस तरह आप कही जाने के लिए मैप देखते है और मैप देखकर आपको समझ आ जाता है की कौनसा रास्ता कहा जा रहा है और आपको वह जाने के लिए कितने रास्तो से गुजरना है

इसी तरह साइटमैप में भी आपके वेबसाइट के हर पेज की एक डिटेल होती है और वो नक़्शे की तरह दिखता है की आपकी वेबसाइट का कौनसा पेज कहा जा रहा है या कहा से जुड़ा हुआ है

साइटमैप किसलिए इस्तेमाल किया जाता है

दोस्तों आप जब भी किस वेबसाइट पर जाते है तो दूसरे पेज पर जाने के लिए आप दूसरा पेज खोलते है या फिर सीधे ही सर्च इंजन में उस पेज को सर्च कर लेते है, लेकिन सर्च इंजन जब भी वेबसाइट पर आता है तो वह आपके वेबसाइट के हर पेज को एक एक करके नहीं खोलता, वो सीधा आपके द्वारा बनाये हुए साइटमैप पर जाता है और वह से देख लेता है की आपकी वेबसाइट में कितने पेज है, और कौन सा पेज कहा से जुड़ा होता है,
और सभी पेज को देखने के बाद वो अपने सर्च इंजन के रिजल्ट में आपके पेज की लिस्ट रख लेता है,
अब अगर किसी इंसान को कहा जाए की वेबसाइट के सभी पेज को खोलकर चेक करो तो वह १०० या २०० पेज खोल लेगा लेकिन किसी वेबसाइट में १०.००० से ज्यादा पेज भी हो सकते है,

Ebay USA और Amazon USA में एक लाख से ज्यादा पेज है, इसीलिए सर्च इंजन से हम साइटमैप द्वारा पेज को डिटेल शेयर करते है

Sitemap Kya hai, aur sitemap kaise banaye

साइटमैप कैसे बनाया जाता है?

अब आखिर में ये सवाल आता है की साइटमैप किस तरह बनाया जाए, क्योकि एक लाख पेज की डिटेल आप खुद तो बना नहीं सकते, और अगर आपसे १०० पेज के साइटमैप फाइल को बनाने में काम से काम 3 या 4 घंटे लग सकते है

तो सबसे आसान तरीका यही है की आप साइटमैप इन्टरनेट के माध्यम से बना ले, क्योकि इन्टरनेट पर कुछ ऐसी वेबसाइट है जो आपको फ्री में साइटमैप बना कर देती है और यह सुरक्षित भी है

इसके लिए आपको बस इस वेबसाइट पर जाना है और अपनी वेबसाइट का लिंक यहाँ लिख कर एंटर करना है

https://www.xml-sitemaps.com
अपनी वेबसाइट का एड्रेस लिखने के बाद आपको Change frequency ( आप अपनी वेबसाइट में कब बदलाव करते है ) डालनी है, अगर आप महीने में एक या दो आर वेबसाइट में कुछ बदलाव करते है तो मंथली लिख कर आगे बढ़िए, अगर आप हर हफ्ते में कुछ बदलाव करते है तो वीकली कीजिये

इसके बाद अगला ऑप्शन आता है ( Priority ) महत्त्व का, यहाँ पर वेबसाइट आपसे पूछ रही है की आपकी वेबसाट का पहला पेज आपके लिए ज्यादा महत्व रखता है या सभी

यहाँ आपको Automatically को चुन कर आगे जाना है, क्योकि वेबसाइट का हर पेज उसके लिए जरुरी है, किसी एक पेज के न होने से फर्क पड़ता है,

और फिर आपको अंत में स्टार करना है उसके बाद इस टूल के द्वारा आपका साइटमैप बनकर तैयार हो जायेगा और आपके पास डाउनलोड करने के लिए ऑप्शन आएगा

आप अपनी वेबसाइट के लिए sitemap.xml वाला साइटमैप डाउनलोड कर लीजिये
यहाँ काफी सारे फॉर्मेट दिए गए है लेकिन सिर्फ .xml वाला साइटमैप सबसे जरुरी होता है, साइटमैप डाउनलोड करने के बाद आपको इस साइटमैप को अपने होस्टिंग के होम फोल्डर में अपलोड करना है

साइटमैप ठीक तरह से अपलोड हुआ है या नहीं ये चेक करने के लिए आप रोबोट फाइल की तरह साइटमैप को भी चेक कर सकते है, साइटमैप को चेक करने के लिए आप सर्च बार में अपनी वेबसाइट का एड्रेस लिखकर आगे स्लैश लगाए और sitemap.xml लिखे

www.example.com/sitemap.xml अगर आपकी वेबसाइट कुछ इस तरह खुलती है और आपके पेज की डिटेल यहाँ इस तरह दिखाई देती है तो इसका मतलब है आपने फाइल को ठीक तरह से अपलोड किया है

तो दोस्तों बहुत ही आसान है फाइल बनान, बस आपको समझना है की किस तरह यह फाइल बनायी जाती है, और यह एसईओ का एक जरुरी हिस्सा है, आप इसको छोड़ नहीं सकते, बस कोशिश कीजिये और एक या दुसरी बार में आप इसे आसानी से बना लेंगे

आपको यह पोस्ट कैसा लगा आप अपने विचार व्यक्त कर सकते है और अगले पोस्ट में पढ़िए
सोशल बुकमार्किंग क्या है और यह किस तरह होती है

Leave a Reply